Font Sign In / Register
शब्दकोश Dictionary
अंग्रेज़ी-हिन्दी शब्द अनुवाद
 
www.swargvibha.tk
 
Opinion Poll
No-ball incident has made our players more aggressive, says M S Dhoni. Do you agree?
Yes
No
Can't Say
Please answer this simple math question 6 + 1 = 7
   
 
Social Media
 
 
 
 
 
Email
एलेन जॉन्सन सरलीफ़ : धैर्य और साहस ने दिलाया नोबेल पुरस्कार
10/23/2011 8:43:20 PM
Post Your Review

- प्रकाश हिन्दुस्तानी

‘अफ्रीकी आयरन लेडीकहलाने वाली लाइबेरिया की राष्ट्रपति एलेन जॉन्सन सरलीफ़ और दो अन्य महिलाओं को इस वर्ष का नोबेल शांति पुरस्कार देने की घोषणा की गयी है। यह लोकतंत्र और शांति की स्थापना में उनके प्रयासों का सम्मान है। एलेन जॉन्सन सरलीफ़ लाइबेरिया में लोकतान्त्रिक तरीके से चुनी गयी पहली महिला राष्ट्रपति हैं। नोबेल पुरस्कार समिति की वेबसाइट के अनुसार उन्होंने लाइबेरिया में शांति की स्थापना के साथ ही आर्थिक और सामाजिक विकास पर भी ध्यान दिया और महिलाओं की सुरक्षा और विकास में भागीदारी सुनिश्चित करने में अहम् भूमिका निभाई। निर्धन माता-पिता की बेटी एलेन ने संघर्षों के बाद अपनी पढ़ाई पूरी की और अपने करीयर में ऊंचाइयां छूते हुए देश के सर्वोच्च पद तक पहुँची और वैश्विक सम्मान पाया। एलेन जॉन्सन सरलीफ़ की सफलता के कुछ सूत्र:

 

पढ़ाई के कोई विकल्प नहीं

कोई कहीं भी पैदा हो, किसी भी परिवार का हो, माता-पिता कितने भी असहाय हों, एलेन जॉन्सन सरलीफ.jpgलेकिन पढ़ाई अगर ठीक से की हो तो वह न केवल अपने हालात बदल सकता है, बल्कि दुनिया को भी बदलने की ताकत रखता है। गरीब माता-पिता की संतान होने के बावजूद एलेन जॉन्सन सरलीफ़ ने पढ़ाई पर पूरा ध्यान दिया। केवल सत्रह साल की उम्र में शादी कर दी गई लेकिन उन्होंने पढ़ाई नहीं छोड़ी। शादी के बाद पति के साथ यूएस जाकर उन्होंने पढ़ाई जारी रखी और अर्थशास्त्र तथा लोक प्रशासन में डिग्री प्राप्त की। पांच संतानों को जन्म देने और पति से तनाव के बाद भी पढ़ाई ने ही उनका साथ दिया और वे सिटी बैक में नौकरी पा सकीं। पढ़ाई के कारण ही वे विश्व बैंक के डायरेक्टर तक की कुर्सी तक पहुंची, जिसने उन्हें न केवल आर्थिक रूप से सबल बनया बल्कि आर्थिक जगत को देखने-समझने की शक्ति भी दी। इसी पढ़ाई की शक्ति को उन्होंने अपने देश की महिलाओं और बच्चों तक पहुंचाया और शिक्षा को विकास का हथियार बनाया.

 

हिम्मत रखें

जब एलेन जॉन्सन सरलीफ़ ने राष्ट्रपति की कुर्सी संभाली थी, तब लाइबेरिया के हालात बदतर थे। लखनऊ, पटना और कानपुर से भी कम आबादीवाले देश लाइबेरिया में 80% (जी हाँ, अस्सी प्रतिशत) बेरोज़गारी थी। आधी से ज्यादा आबादी गरीबी रेखा के नीचे बसर कर रही थी। शहरों, कस्बों की बात तो छोड़िये राजधानी मोनरोविया में भी बिजली गुल थी और पीने के पानी का वितरण बंद था। भ्रष्टाचार, महिलाओं-बच्चों पर ज्यादतियां आम बात थी और चौदह साल के गृह-युद्ध में 41 लाख की आबादी वाले देश में ढाई लाख लोग मारे जा चुके थे। बदतर हालातों में भी उन्होंने हौसला नहीं खोया। कल्पना कीजिये राष्ट्रपति बनाने के बाद उनका पहला बड़ा काम क्या था? राजधानी में जलप्रदाय शुरू कराना। उनके पास करने के लिए काम ही काम थे, वे एक-एक कर ये काम करती गयी.

 

आर्थिक आज़ादी का महत्व

एलेन जॉन्सन सरलीफ़ ने राष्ट्रपति बनते ही आर्थिक आज़ादी की दिशा में बढ़ने की शुरुआत की। उन्हें लाइबेरिया का पुनर्निर्माण करना था। अर्थव्यवस्था में सुधार करना था। क़र्ज़ से मुक्ति उनका पहला लक्ष्य था। छह साल के कार्यकाल में उन्होंने सबसे पहले अपने देश पर चढ़े कर्ज़ को मुक्त कराने के लिए प्रयत्न किये और यूएसए, जर्मनी और विश्व बैंक के कर्ज़ माफ़ कराये। सोलह अरब डॉलर का निवेश अपने देश में आकर्षित कराया। विकास की दर को पांच से बढ़कर साढ़े नौ प्रतिशत तक पहुंचाया। हीरा, लौह अयस्क, रबर, लकड़ी, कॉफ़ी, कोको आदि के निर्यात को बढाया देकर विदेशी मुद्रा कमाने और नए रोजगार पैदा करने के प्रयास किये। सरकारी बजट पर होने वाला खर्च चार साल में बढ़ाकर करीब चार गुना से ज्यादा करने में सफलता पायी। लाइबेरिया में हजारों स्कूल, अस्पताल और व्यापारिक केंद्र बनाये गए और नए लाइबेरिया के निर्माण में जनसहयोग का अभियान चलाया गया.

 

आरोपों से डरें नहीं

एलेन जॉन्सन सरलीफ़ पर विदेशी दबाव में काम करने, विद्रोहियों को लाभ पहुँचाने, अमेरिका की सरपरस्ती, भ्रष्टाचार को बढ़ाने, देश के हित को गिरवी रखने, लाइबेरिया की सम्पदा को लुटाने जैसे कई आरोप लगे लेकिन उन्होंने साफ-साफ़ कहा कि राष्ट्रपति के रूप में आप क्या करेंगे अगर आप आरोपों से डरने लग जाएं। असली बात तो यह है कि लाइबेरिया के आर्थिक हालात में सुधार हो और लोगों का जीवन स्तर सुधरे। मेरा राष्ट्रपति बनना बेकार होगा अगर मेरे देश वासियों की बदहाली ऐसी ही रही। उनके विरोधियों ने उन पर लगातार राजनैतिक हमले जारी रखे, लेकिन वे विचलित हुए बिना अपने काम में जुटी रहीं।

 

समस्या की जड़ तक जाएं

अगर आप कोई भी समस्या हाल करना चाहते हैं तो उसको जड़ से ख़त्म कीजिये वरना वह फिर पैदा हो जायेगी। राजनैतिक मोर्चे पर उन्होंने अपने विरोधी दलों और छोटी छोटी पार्टियों को विश्वास में लेने की कोशिश की जिससे कि वे भी सुधार और बदलाव में हिस्सेदारी निभा सकें। उन्होंने लाइबेरिया में 'ट्रुथ एंड रीकन्सिलिएशन कमीशन' (सत्य और सामंजस्य आयोग) गठित किया जिससे राष्ट्रीय स्तर पर शांति, सामंजस्य, भाईचारा और एकता को बढ़ावा दिया जा सके। इस आयोग की रिपोर्ट को लेकर कई बार बहस हुई और सुप्रीम कोर्ट तक भी मामले गए। राष्ट्रपति के रूप में उन्होंने कोशिश की कि न्याय व्यवस्था में सुधार हो, प्रशासकीय ढांचा सुधरे और वे लोकोपयोगी अल्प और दीर्घकालीन कार्य करें.

 

समझौता न करें

अगर आपने बात-बात पर समझौते कर लिए तो लक्ष्य तक जाना आसान न होगा। एलेन जॉन्सन सरलीफ़ ने अपने एक नज़दीकी रिश्तेदार को भ्रष्ट आचरण के मामले में हटा दिया। गत वर्ष उन्होंने अपने 19 में से सात मंत्रियों को बदल दिया था। यहां तक कि पति के व्यवहार से क्षुब्ध होकर तलाक का रास्ता भी उन्हें अपनाना पड़ा। उन्होंने महिलाओं पर होने वाले पति के अत्याचारों के खिलाफ भी मोर्चा खोला। गृह युद्ध के दौरान वे जेल में रहीं, तब एक सैनिक ने उनसे बलात् दुष्कर्म की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहा। कैद में उन्होंने कष्ट सहे और निर्वासित जीवन भी जिया।

लोगों को यह बात याद रखनी चाहिए कि मैंने क्या-क्या काम किये हैं और कैसे-कैसे हालात में लड़ाइयाँ लड़ी हैं। संघर्ष में मैंने भी बहुत कुछ खोया है.

वर्ष 2010 में 'न्यूजवीक' ने उन्हें विश्व के दस शीर्ष नेताओं में माना था, 'टाइम' ने उन्हें दुनिया की दस सबसे प्रमुख नेताओं में गिना था और 'इकानामिस्ट' ने उन्हें लाइबेरिया की सबसे योग्यतम राष्ट्रपति बताया था.

  PrakaashHindustani-81X115.jpg

 

प्रकाश हिन्दुस्तानी

 

  *****

 

Shubham-OK-529X180.JPG

,



 

GOVIND KUMAR MISHRA said :
ऐसे राष्ट्रपति को जरुर नोबेल पुरुस्कार मिलनी चाहिए.Mere तरफ से और पुरे भारत वासी की तरफ से दुआ है की ये देश. विकाशसील देश बने.
6/10/2012 4:29:01 AM

Post Your Review

Your Name  
Your Email  
Your Comment:
Type in Hindi (Press Ctrl+g to toggle between English and Hindi)
 
      
 
 
Go To Top
 
Login

     
 
                 

             

New User! Register Here.
Forgot Password?
 
 
 
 
Online Reference
Dictionary, Encyclopedia & more
Word:
by:
 
Traffic Rank
 
 
About Us  |   Contact Us   |   Term & Conditions   |   Disclaimer  |   Privacy Policy  |   copyright © 2010... Powered by : InceptLogic